ज़िन्दगी

ज़िन्दगी

कौन सी है वो चीज़ जो यहाँ नहीं मिलती,
सब कुछ मिल जाता है लेकिन माँ नहीं मिलती,
माँ-बाप ऐसे होते हैं दोस्तों जो ज़िन्दगी में फिर नहीं मिलते,
खुश रखा करो उनको फिर देखो जन्नत कहाँ नहीं मिलती |

ज़िन्दगी

ज़िन्दगी

पी के भांग ज़मा लो रंग,
ज़िन्दगी बीते खुशियों के संग,
लेकर नाम शिव भोले का,
दिल में भरलो शिवरात्रि की उमंग।

मुक्तसर सी ज़िन्दगी,

मुक्तसर सी ज़िन्दगी,

मुक्तसर सी ज़िन्दगी,
है मेरी तेरे साथ जीना,
चाहता हूँ कुछ नहीं,
मांगता खुदा से बस,
तुझे मांगता हूँ |
Happy Propose Day

 आपकी निगाह में,

आपकी निगाह में,

फूल खिलते रहे ज़िन्दगी की,
राह में हँसी चमकती रहे,
आपकी निगाह में कदम,
कदम पर मिले ख़ुशी की बहार,
आपको दिल देता है यही दुआ,
हर बार आपको |
Happy Propose Day