...

जलवा

'क्या जलवा कर्बला में दिखाया हुसैन ने
सजदे में जा कर सिर कटाया हुसैन ने
नेजे पे सिर था और ज़ुबान पे आयतें
कुरान इस तरह सुनाया हुसैन ने।'

...

ज़िंदगी की तमन्ना

 कभी करते है ज़िंदगी की तमन्ना, 
तो कभी मौत का इंतज़ार करते है, 
वो हमसे क्यों दूर है पता नहीं ,
जिन्हे हम ज़िंदगी से भी
ज़्यादा प्यार करते है ।

...

मुसाफिर

 सांसो का पिंजरा किसी दिन टूट जायेगा,
ये मुसाफिर किसी राह में छूट जायेगा,
अभी जिन्दा हु तो बात लिया करो ,
क्या पता कब हम से खुदा रूठ जायेगा |

...

मोहब्बत,

अब छोड़ दिया है, इश्क़ का,
स्कूल हमने भी हमसे अब,
मोहब्बत की फीस,
अदा नही होती |

...

जानेमन

अब जानेमन तू तो नहीं,
शिकवा -ए-गम किससे कहें
या चुप हें या रो पड़ें,
किस्सा-ए-गम किससे कहें।

...

हासिन,

अलविदा कह कर जब वो चल दिए,
आँखों ने सारे हासिन ख्वाब खो दिए,
गम ये नहीं मुझे की वो छोड़ गए,
दर्द तो तब हुआ जब अलविदा,
कहते कहते वो रो दिए।

...

तकलीफ,

इस दुनिया मेँ अजनबी रहना ही,
ठीक है लोग बहुत तकलीफ,
देते है अक्सर अपना बना कर |

...

दोस्त

ए दोस्त हम हमेशा तुम्हे
दिल से याद किया करते हैं,
रहो हमेशा सलामत तुम बस
यही ख़ुदा से फ़रियाद किया करते हैं।

...

ख़्वाहिश

एक ख़्वाहिश होती है अपने
दोस्तों के साथ जीने की इस दुनियाँ में,
वर्ना इतना तो हम भी जानते हैं
कि मरना अकेले ही होता है।

...

दुनिया,

ऐ दिल तू क्यों रोता,
है ये दुनिया है,
यहाँ ऐसा ही,
होता है |

...

मोहब्बत

कमाल की चीज है
ये मोहब्बत अधूरी हो सकती है,
पर कभी खत्म नही हो सकती।

...

सनम,

काबिले तारीफ है मेरे,
सनम की हर अदा,
वो उसका ना ना,
कहकर भी मेरी,
बाहों में आना |

...

बदनसीबी,

किसी को तुम दिल से,
चाहो और वो,
तुम्हारी कदर ना करे,
तो ये उसकी,
बदनसीबी है तुम्हारी  |

...

किस्मत

किस्मत ने ना जाने कैसे
तुमसे मिला दिया है हमें,
अनजान था जो चेहरा पहले,
उसका दोस्त बना दिया है हमें |

...

यादों,

कुछ दींनो से तेरी यादों में,
खोना लगा हु जबसे,
मिला हु तुम्हें बस,
तेरा होने लगा हु |

...

रिश्तों की चमक

कुछ रिश्तों की चमक नहीं जाती, 
कुछ यादों की कसक नहीं जाती, 
कुछ दोस्तों से होता है ऐसा रिश्ता, 
के दूर रह कर भी उनकी
महक नहीं जाती ।

...

अपनों का साथ

कोशिश करो कोई आपसे ना रूठे,
जिंदगी में अपनों का साथ ना छूटे,
दोस्ती कोई भी हो उसे ऐसा निभाओ,
कि उस दोस्ती की डोर जिंदगी भर ना टूटे।

...

मौहब्बत,

कौन कहता है के दूरी से ,
मिट जाती है मौहब्बत,
मिलने वाले तो ख्यालों,
मे भी मिला करते हैं ।

...

मुलाकात,

कौन कहता है, मुलाकात,
मेरी आज की है तू,
मेरी रूह के अंदर,
है कई सदियों से |

...

कदर,

खुद में हम कुछ इस,
कदर खो जाते हैं,
सोचते हैं आपको,
और आप ही के,
हो जाते हैं |

...

ख्वाबो

गम को बेचकर खुशी खरीद लेंगे, 
ख्वाबो को बेचकर जिन्दगी खरीद लेंगे ,
होगा इम्तहान तो देखेगी दुनिया,
खुद को बेचकर आपकी
दोस्ती खरीद लेंगे।

...

ख्याल,

छुपकर मेरी नज़र से,
गुज़र जाईये मगर,
बचकर मेरे ख्याल,
से किधर जाईयेगा |

...

दिलकश,

ज़िंदगी का हर वो रंग,
दिलकश,
लगता है जो आपके प्यार,
में हम पर चढ़ता है |

...

आंसू

जाने क्यों हमें आंसू बहाना है आता ,
जाने क्यों हालेदिल बताना नहीं आता, 
क्यों साथी बिछड़ जाते है हमसे,
शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता|

...

नशा,

जिक्र तेरा है,
या कोई नशा है,
जब-जब होता है,
दिल बहक जाता है |

...

खुशियाँ

जीने की उसने हमें नयी अदा दी है,
खुश रहने की उसने हमें दुआ दी है,
ऐ खुदा उसको खुशियाँ तमाम देना,
जिसने अपने दिल  में हमें जगह दी है।

...

सांसें,

तमन्ना है मेरे मन की हर,
पल साथ तुम्हारा हो,
जितनी भी सांसें चलें,
मेरी हर सांस पर,
नाम तुम्हारा हो |

...

अलफाज़ों,

तू मेरे लिये अलफाज़ों से,
बेवजह ही लड़ा था कोरा,
कागज जो तूने भेजा,
मैंने वो भी पढ़ा था |

...

दोस्ती

दोस्ती ग़म नहीं बल्कि खुशियों की सौगात है,
यह रिश्ता देता ज़िन्दगी भर साथ है, है दोस्ती एहसासों का ऐसा मेल,
जिसके बल पर जगमग यह पूरी कायनात है।

...

ना तलवार की धार से,

ना तलवार की धार से,
ना गोलियों की बौछार,
से,
बंदा डरता है तो सिर्फ,
अपने बाप की मार से।

...

फिक्र,

नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते,
क्यू नही इतनी ही फिक्र,
है तो फिर हमारे,
होते क्यू नही |

...

बिछड़कर,

बनाकर रख लो मुझे,
कैदी अपनी चाहत का,
बिछड़कर तुमसे मुझे,
जीना नहीं आता |

...

मुस्कराहट

मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता 
कुछ रिश्तो का कोई तोल नहीं होता 
वैसे लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर 
पर कोई आप की तरह
अनमोल नहीं होता ।

...

मोहब्बत,

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में,
भी तेरा नाम सुन कर, तेरे,
नाम से इतनी मोहब्बत है
तो सोच तुझसे कितनी होगी |

...

इन्तिहां,

मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये
इस प्यार की वजह न पूछिये,
हर सांस मे समाये रहते हो,
कहां बसे हो तुम जगह न,
पूछिये |

...

मुहब्बत

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है,
प्यार करने वालों को क्यों बुरा मानते है,
जब जमाना ही पत्थर दिल है,
फिर पथर से लोग क्यों दुआ मांगते है|

...

मुस्कुराने,

मेरी उदासियां तुम्हें कैसे,
नज़र आएंगी तुम्हें,
देखकर तो हम,
मुस्कुराने लगते हैं |

...

मुस्कुराने,

मेरी ख़ुशी के लम्हें इस कद्र,
छोटे हैं यारों गुज़र जाते हैं,
मेरे मुस्कुराने से पहलें |

...

हिस्सा,

मैं अपनी चाहतों का हिस्सा,
जो लेने बैठ जाऊं तो,
सिर्फ मेरा याद करना,
भी ना लौटा सकोगे |

...

कलम

लिखना था कि
खुश हैं तेरे बगैर भी यहां हम,
मगर कमबख्त...
आंसू हैं कि कलम से
पहले ही चल दिए।

...

लाखों,

वह जो लाखों में एक,
होता है न बस मेरे,
लिए आप वही हो |

...

मोहब्बत

संगीत की जरूरत हर
महफ़िल में होती है,
मोहब्बत की जरूरत हर
एक दिल में होती है,
बिना दोस्तों के है
अधूरा है यह जीवन,
क्योंकि उनकी जरूरत हर
एक पल में होती है।

...

अलविदा,

सपनो के जहाँ से अब लौट आऔ,
हुई हे सुबह अब जाग जाओ,
चांद तारों को अब कह कर,
अलविदा,
इस नए दिन की खुँशियों,
मे खो जाओ |
good morning

...

अलविदा,

सपनो के जहाँ से अब,
लौट आओं,
हुई है सुबह अब भाग जाओ,
चाँद – तारों को अब कह,
कर अलविदा,
इस नय दिन की खुशियों में,
खो जाओ |
good morning

...

सफ़र

सुनसान था सफ़र इस
दुनिया की भीड़ में,
लगता था नहीं है कोई
अपना मेरी तक़दीर में,
फिर जब बने दोस्त तुम
मेरे तो एहसास हुआ,
कुछ ख़ास ही लिखा था खुदा ने
मेरे हाथों की तक़दीर में।

...

समंदर

सुना है आज समंदर को बड़ा गुमान आया है,
उधर ही ले चलो कश्ती जहां तूफान आया है।

...

जिंदगी,

सुनो जिंदगी में तुम,
ही तुम हो आँखों में,
खब्बां में साँसो में |

...

मोहब्बत,

सुनो वैसे तो तुम मेरी पहली,
पसंद हो मगर मैंने चाहा है,
तुम्हे अपनी आख़री,
मोहब्बत की तरह |

...

मोहब्बत,

हमें कहां मालूम था,
कि इश्क,
होता क्या है बस एक,
तुम मिले,
और जिंदगी मोहब्बत,
बन गई |

...

अपनापन

हर लम्हा दोस्ती का है इरादा तुमसे,
हमें अपनापन ही है कुछ ज्यादा तुमसे,
साथ देंगे तुम्हारा पूरी ज़िन्दगी के लिए,
हमेशा अपनी दोस्ती निभाएंगे है
ये वादा तुमसे