संतुष्ट

संतुष्ट

सुखी वही है जो
हमेशा संतुष्ट है |

Bk Shivani

शक्तिशाली

शक्तिशाली

मन को शक्तिशाली बनाने
का सहज उपाय-
मै अकेला नहीं हूँ स्वयं भगवान
मेरे साथ है ,मै हमेशा उनकी
सुख शांति और
आनंद की किरणों के नीचे हूँ |

Bk Shivani

कोशिश

कोशिश

जब लोग आपकी बुराई करे
और बुराई करने पर आप
दुखी हो जाये ,
और जब लोग आपकी तारीफ करे
तब आप सुखी हो जाये ,
तो समझ लेना आपके सुख दुःख की
स्विच लोगो के हाथ में है ,
कोशिश करे ये स्विच
आपके हाथ में हो |

Bk Shivani

सुविचार

सुविचार

9 सुविचार 9 minute के लिए रात 9 बजे -
1 . में पवित्र आत्मा हूँ |
2 . में शक्तिशाली आत्मा हूँ |
3 .में सुखस्वरूप आत्मा हूँ |
4 . में निर्भय आत्मा हूँ |
5 . में सुरक्षित हूँ |
6 .मेरा शरीर निरोगी है |
7 . परमात्मा की शक्तियाँ हरेक को मिल रही है |
8 . परमात्मा की शक्तियाँ हमारे देश और पृथ्वी को सुरक्षित रख रही है |
9 . परमात्मा सदैव मेरे साथ है |

Bk Shivani

आनंद

आनंद

सुख और दुःख का
अनुभव होता है ,
आनंद बिना अनुभव
के होता है |

Bk Shivani

आनंद

आनंद

सुख और दुःख का
अनुभव होता है,
लेकिन आनंद बिना
अनुभव के होता है |

Bk Shivani

इंसान

इंसान

अगर आपके मन में संतोष है तो
आप सबसे अमीर है | आप यदि
शांत है ,तो आप सबसे सुखी है |
और यदि आप में दया है तो
आप बहुत अच्छे इंसान है |

Bk Shivani

सुख

सुख

जो केवल दया से प्रेरित होकर ,
सेवा करते हैं उन्हें निश्चय सुख की ,
प्राप्ति होती है।

Maharshi vedvyaas

परमसुख

परमसुख

अच्छी निंद्रा और परमसुख,
उन्हें प्राप्त होता है,
जो आशा से भरे हैं।

शौक

शौक

जिसे पुस्तक पढ़ने का शौक है ,
वह सब जगह सुखी रह सकता है |

Mahatma Gandhi

आशीर्वाद

आशीर्वाद

गणपति बाप्पा आये हैं साथ,
खुशियाँ लाये हैं,
गणेश जी के आशीर्वाद से ही,
हमने सुख के गीत गाये हैं ।

जीवन

जीवन

भाई दूज के शुभ अवसर पर,
आपके लिए ढेर सारी शुभकामनाएं,
आपके जीवन में सुख-शांति और,
समृद्धि हमेशा बनी रहे |
Happy Bhai Dooj

जो बात

जो बात

जो बात हमें दुखी करे, ऐसे किसी भी
बात को हमें पकड़ कर नहीं रखना चाहिए;
क्योंकि यहाँ वक्त के साथ हर चीज
परिवर्तनशील है, हमें बस
सुखदायी माहौल बनाने में ही
अपनी शक्ति लगानी चाहिए।

Bk Shivani

सुख-दुःख का कारण

सुख-दुःख का कारण

हमारे सुख-दुःख का कारण ,
दूसरे व्यक्ति या परिस्थितियाँ नहीं ,
अपितु हमारे अच्छे या बूरे विचार होते हैं I
Baba Ramdev

 सुख गणेश जी के पेट जितना हो

सुख गणेश जी के पेट जितना हो

आपका सुख गणेश जी के पेट जितना हो,
आपका दुःख मूषक जैसा हो,
आपकी लाइफ गणेशजी के सूंड जैसे हो,
आपके बोल मोदक जैसे मीठे हो…
हैप्पी रहो! जय गणेशा!