इम्तिहान

इम्तिहान

किताबों का साथ हो पेन पर हाथ हो,
कॉपियां आपके पास हो पढ़ाई दिन रात हो,
जिंदगी के हर इम्तिहान में आप पास हो,

पतझड़

पतझड़

सूरज हर शाम को ढल ही जाता है,
पतझड़ वसंत में बदल ही जाता है,
मेरे मन मुसीबत में हिम्मत मत हारना,
समय कैसा भी हो गुजर ही जाता है।

त्योहार

त्योहार

लेकर मौसम की बहार,
आया वसंत ऋतु का त्योहार,
आओ हम सब मिलकर मनाएं,
दिल में भर के उमंग और प्यार,

सरस्वती

सरस्वती

मां सरस्वती का वसंत है त्योहार,
आपके जीवन में आये सदा बहार,
सरस्वती हर पल विराजे आपके द्वार,
हर काम आपका हो जाए सफल,
बंसत पंचमी की शुभकामनाएं।

महकती

महकती

सर्दी को तुम दे दो विदाई वसंत की अब ऋतु है आई,
फूलों से खुशबू लेकर महकती हवा है आई,
बागों में बहार है आई भंवरों की गुंजन है लाई,
उड़ रही है पतंग हवा में जैसे तितली यौवन में आई,
देखो अब वसंत है आई।

बसंत ऋतु

बसंत ऋतु

ज्ञान तेरा अनंत है ,
वीणा जिसकी मधुर है ,
कृपा हो इसकी जिस पर ,
वो पूरे ब्रह्मांड मैं सर्व ज्ञानी है ,
आओ वंदना करे ऐसी मूरत की जो ,
स्वयं बसंत ऋतु के रूप मैं दर्शन देने आई है |