...

मोहब्बत,

अजीब दस्तूर है मोहब्बत,
का रूठ कोई जाता,
है टूट कोई,
जाता है |

...

उम्मीदें,

इंसान को इंसान धोखा नहीं,
देता है बल्कि वो उम्मीदें,
धोखा दे जाती हैं जो,
वो दूसरों से,
रखता है |

...

गलियों,

काश मैं लौट जाऊँ बचपन की,
उन गलियों में जहां ना कोई,
ज़रूरत थी ना कोई,
ज़रूरी था |

...

दुनिया,

कितनी छोटी सी दुनिया,
है मेरी एक मै हूँ और,
एक दोस्ती तेरी |

...

बेजान,

किस कदर मासूम सा लहजा
था उसका धीरे से जान,
कहकर बेजान,
कर दीया |

...

खुबसुरती,

कौन कहेता है की तेरी ‪खुबसुरती,
मै दम है अरे ‪‎पगली तुझे तो,
लोग इस लिए देखते है,
कि तेरे ‪‎आशिक़ हम है |

...

मोहब्बत,

जाने कितनी रातो की नींदे ले,
गया वो जो पल भर,
मोहब्बत जताने,
आया था |

...

जाम पे जाम पीने से

जाम पे जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पी सुबह उतर जाएगी,
अरे दो बूंद मेरे प्यार की पीले,
जिन्दगी सारी नशेमे गुज़र जाएगी |

...

खुशकिश्मत,

तुम खुशकिश्मत हो जो हम,
तुमको चाहते है वरना हम,
तो वो है जिनके ख्वाबों,
मे भी लोग इजाजत,
लेकर आते है |

...

निगाह,

तेरी सिर्फ एक निगाह ने,
खरीद लिया हमें बड़ा,
गुमान था हमें की,
हम बिकते नहीं |

...

मुस्कुराना,

धडकनों को कुछ तो काबू,
में कर ए दिल अभी तो,
पलकें झुकाई है ,
मुस्कुराना अभी,
बाकी है उनका |

...

बारिश की हर बूँद

बारिश की हर बूँद कुछ मीठी याद दिलाती है,
तेरे साथ ना होने पर भी साथ होने का एहसास दिलाती है,
लाखो दूरियाँ सही पर तेरी नज़दीकियों का एहसास दिलाती है,
भीग जाऊ उन सिमटी यादों में, के अब हर बूँद मुझे तेरी याद दिलाती है |

...

तन्हाई में महफ़िल,

बारिशों का क्या हैं, आजकल तो आँखों से बरसती हैं तन्हाई में महफ़िल आखिर कहाँ सजा करती हैं |

...

कारोबार

मत पूछ मेरा कारोबार क्या है,
दिलो का सौदा करता हु वो,
भी नफरतो के बाजार में |

...

मुझे लेते हो जब अपनी मुहब्बत की

मुझे लेते हो जब अपनी मुहब्बत की पनाहों में,ये जादू कैसा तुम करते खिची आती मै बांहों में,ये धड़कन तेज क्यों होती ये सांसे क्यों उखडती है मुझे जब देखते हो तुम निगाहों ही निगाहों में |

...

‪मुस्कराई,

मेरी बात सुन पगली अकेले,
‪‎हम ही शामिल नही है,
इस ‪‎जुर्म में ‎जब नजरे,
मिली थी तो ‪मुस्कराई,
तू भी थी |

...

समुन्दर,

मैंने समुन्दर से सीखा,
है जीने,
का सलीका चुपचाप से,
बहना और अपनी,
मौज में रहना |

...

मोहब्बत

मोहब्बत एक अहसासों की पावन सी कहानी है !
कभी कबिरा दीवाना था कभी मीरा दीवानी है !!
यहाँ सब लोग कहते हैं, मेरी आंखों में आँसू हैं !
जो तू समझे तो मोती है, जो ना समझे तो पानी है !!

...

शरारत,

मोहब्बत है गज़ब उसकी,
शरारत भी निराली है,
बड़ी शिद्दत से वो ,
सब कुछ निभाती,
है अकेले में |

...

हमदर्दॅ,

ये जो हमदर्दॅ होते है,
यकी मानो दोस्त,
दर्द उन्ही से,
मिलते है |

...

नशाए‪‎शराब,

ये ‪‎इश्क़ भी नशाए‪‎शराब,
जैसा हैं, करे तो मर ,
जाये छोड़े तो ,
किधर जाये |

...

मुमकिन,

वहां तक तो साथ चलो जहाँ,
तक साथ मुमकिन है,
जहाँ हालात बदलेंगे,
वहां तुम भी,
बदल जाना |

...

गुजरने,

वो लाख तुझे पूजती, होगी मगर,
तू खुश न हो ऐ खुदा वो,
मंदिर भी जाती है तो ,
री गली से गुजरने,
के लिए |

...

बदलते,

शौक से बदलो मगर इतना याद,
रखना ऐ यार मेरे हम जो,
बदले तो करवटें बदलते,
ही रह जाओगे |